देर रात 200 से अधिक ब्लैक कैट कमांडो के बीच 200 से अधिक ब्लैक कैट कमांडो के साथ आईएएस टीना डाबी

[ad_1]

राजस्थान के जैसलमेर में पाकिस्तान की सीमा से आतंकियों की घुसपैठ की धमकी पर गुजरात से आए एनएसजी कमांडो ने देर रात शहर के एक फाइव स्टार होटल में मॉक ड्रिल की. आधुनिक हथियारों से लैस 200 से अधिक ब्लैक कैट कमांडो के साथ बीएसएफ और पुलिस कर्मियों ने मॉक ड्रिल में भाग लिया। इस दौरान जिलाधिकारी टीना डाबी, पुलिस अधीक्षक भंवर सिंह नथावत, एडीएम दाताराम, पुलिस उपाधीक्षक प्रियंका कुमावत समेत अन्य प्रशासनिक अधिकारियों ने भी वहां पहुंचकर मोर्चा संभाला.

विज्ञापन

देर रात तक शहर में पुलिस, दमकल और एंबुलेंस समेत कई सरकारी वाहनों के सायरन बजते देख लोग परेशान हो गए.

जैसलमेर के सैम रोड स्थित एक फाइव स्टार होटल में देर रात यह कवायद की गई। इस ड्रिल के दौरान बताया गया कि आतंकवादी होटल में घुस आए हैं। गेट पर ड्यूटी दे रहे गार्ड को भी गोली मारने के लिए कहा गया। होटल के सभी स्टाफ और वहां ठहरे मेहमानों को बंधक बनाने के लिए फ्लैश जारी किया गया था.

जैसलमेर से सूचना मिलते ही एनएसजी कमांडो स्क्वाड, सीमा सुरक्षा बल और पुलिस समेत अन्य सुरक्षा बल मौके पर पहुंच गए.

आतंकी घटना की सूचना मिलते ही सिविल डिफेंस की टीम, दमकल की गाड़ियां और एंबुलेंस भी मौके पर पहुंच गई. ट्रैफिक पुलिस ने ग्रीन कॉरिडोर बनाकर एनएसजी को सैम रोड स्थित होटल तक पहुंचाने में मदद की.

मौके पर पहुंचने के बाद देर रात शुरू हुए ऑपरेशन को एनएसजी और पुलिस की टीमों ने गुरुवार तड़के तीन बजे तक चलाया. ड्रिल के दौरान कुछ ही देर में आतंकियों को ढेर कर दिया गया और वहां मौजूद लोगों को सकुशल बाहर निकाल लिया गया।

आधुनिक हथियारों से लैस 200 से अधिक ब्लैक कैट कमांडो के साथ बीएसएफ और पुलिस कर्मियों ने मॉक ड्रिल में भाग लिया। इसमें आतंकियों के एक फाइव स्टार होटल में घुसकर उन्हें एनकाउंटर में मार गिराने और लोगों को निकालने की पूरी प्रक्रिया को अंजाम दिया गया।

जैसलमेर पर्यटन के लिए प्रसिद्ध है

आपको बता दें कि जैसलमेर पर्यटन की दृष्टि से बहुत ही महत्वपूर्ण क्षेत्र है, यहां देश-विदेश से लाखों की संख्या में पर्यटक घूमने आते हैं। साथ ही इस होटल में कई पर्यटक ठहरते हैं और साथ ही होटल से कुछ दूरी पर स्थित कुछ रेत के टीलों पर बने रिसॉर्ट भी हैं।

ऐसे में जैसे ही होटल में हुए आतंकी हमले की सूचना मिली, लोगों में एकबारगी सनसनी मच गई. इससे पहले जब बड़ी संख्या में एनएसजी, बीएसएफ, पुलिस, दमकल और एंबुलेंस की गाड़ियां शहर से होकर गुजरीं तो रहवासियों में चर्चा शुरू हो गई. हालांकि बाद में एनएसजी द्वारा किए जा रहे मॉक ड्रिल की सूचना पर लोगों ने राहत की सांस ली।

गौरतलब है कि बीते दिनों जैसलमेर से सटी भारत-पाक सीमा से आतंकियों के घुसने की चेतावनी दी गई थी। सीमा के पास संदिग्ध लोगों की गिरफ्तारी के बाद सीमा सुरक्षा बल समेत विभिन्न सुरक्षा एजेंसियां ​​अलर्ट पर हैं और अंतरराष्ट्रीय सीमा पर कड़ी नजर रखी जा रही है. (इनपुट – विमल भाटिया)

[ad_2]

Input your search keywords and press Enter.