पीएम मोदी के कार्यक्रम में स्कूल बसें, ग्वालियर के कई स्कूलों में छुट्टी, कलेक्टर ने दी सफाई- 16 से 17 सितंबर तक ग्वालियर में दोपहर मोदी के जन्मदिन पर स्कूल की छुट्टी

[ad_1]


मध्य प्रदेश के श्योपुर जिले में शनिवार को होने वाली प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बैठक में भीड़ जुटाने के लिए परिवहन विभाग बसों की खरीद में लगा हुआ है. अकेले ग्वालियर जिले से ही करीब 300-400 बसें मंगवाई गई हैं। इनमें से 120 से ज्यादा स्कूल बसें चलेंगी जबकि बाकी बसें रूट पर चलेंगी। इसके चलते 16 और 17 सितंबर को स्कूल बंद कर दिए गए हैं।

विज्ञापन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने जन्मदिन के मौके पर श्योपुर के कुनो-पालमपुर जा रहे हैं. यहां वह अफ्रीकी चीतों के स्थानांतरण कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे और फिर महिला स्वयं सहायता समूहों के एक सम्मेलन को भी संबोधित करेंगे।

इस कार्यक्रम में पूरे ग्वालियर संभाग से भीड़ जुट रही है. ग्वालियर जिला प्रशासन को भी 6-7 हजार लोगों को सभा स्थल तक पहुंचाने का लक्ष्य दिया गया है. उसके लिए 300 से 400 स्कूल बसें खरीदी गई हैं। इसकी जानकारी स्कूल वालों ने बच्चों के अभिभावकों को वाट्सएप ग्रुप पर दी है।

ग्वालियर कलेक्टर सफाई

हालांकि ग्वालियर के जिलाधिकारी कौशलेंद्र विक्रम सिंह ने आजतक से बातचीत में इस बात से साफ इनकार किया है. कलेक्टर ने कहा कि स्कूल बसों की खरीद पर पूरी तरह से रोक लगा दी गई है. जब हमें करीब 1000 बसों की जरूरत होती है तो कहीं स्कूल बसों को ले जाया जाता है। अभी बिल्कुल नहीं लिया जा रहा है। इस संबंध में आरटीओ से इनकार किया गया है।

स्कूलों ने अभिभावकों को भेजे संदेश

वहीं, आजतक की जांच में शहर के चर्चित स्कूल डीपीएस यानी दिल्ली पब्लिक स्कूल, ग्वालियर ग्लोरी स्कूल, लिटिल एंजल स्कूल के प्रबंधन ने साफ संदेश दिया है कि हमारी बसों को प्रशासन ने अधिग्रहित कर लिया है, क्योंकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी का जन्मदिन। इसलिए 16-17 को बसें बच्चों को लेने नहीं आएंगी।

पीएम मोदी करेंगे श्योपुर जिले का दौरा

बता दें कि 17 सितंबर (प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन) पर 8 चीतों को नामीबिया से भारत लाया जा रहा है। विशेष चार्टर फ्लाइट से चीतों को ग्वालियर लाया जाएगा। पहले उन्हें जयपुर लाया जाना था। लेकिन लॉजिस्टिक समस्या के चलते एक दिन पहले ही प्लान में बदलाव किया गया है। इन चीतों को हेलीकॉप्टर से ग्वालियर से मध्य प्रदेश के कुनो-पालपुर राष्ट्रीय उद्यान (केएनपी) लाया जाएगा।

स्रोत लिंक

[ad_2]

Input your search keywords and press Enter.