यू आर द वन लिरिक्स – अमृत मान, भविष्यवाणी

[ad_1]

गोरा तेरा रंग नि कुड़िये

गबरू नु मारी जांदा ऐ

रूप तेरा लाती ऐ बाल्दी नि

कलजे थारी जंदा

विज्ञापन

जीतो दर्द सारे हो तेरे टन दर्दे

तैनू दैनिक मुंडा हांजी हांजी करदे

तन्ही दैनिक मुंडा हांजी हांजी करदे

नी तू वाइन पुरानी ऐ जिहदा लेट नशा चढदे

तन्ही दैनिक कुड़िये हांजी हांजी करदे

तैणु दैनिक मुंडा हांजी हांजी करदे

आंत

कडे वन पीस पावीन

आज सूट जेहा पा लिया तू

तैनू फैशन सेंस बड़ी

बॉम्बे पिचे ला लिया तू

कडे वन पीस पावीन

आज सूट जेहा पा लिया तू

तैनू फैशन सेंस बड़ी

बॉम्बे पिचे ला लिया तू

हो जाट वि बादल बदल के नि

विंटेज कारआन ते चढदे

जीते मरदी दुनिया ओह तेरे ते मर्द

तन्ही दैनिक कुड़िये हांजी हांजी करदा

तैणु दैनिक मुंडा हांजी हांजी करदा

आंत

हांजी मुंडा थोडे पिचे लौंडा गेहड़ियां

हांजी हुं पिंड थोडा पुछनो फिरे

हांजी आई डेर कहतों लाए जाने हो

छेती छेती गल हुन ला देयो सर

करदे तू हां ते रख सानु नेहदे

रब्ब वि बनौंदा कितने अच्छे हैं

गलबत मुंडा एंड कारी फिरदा

ओहदा तेरे पिचे मुंडे फिरदे बथेरे

सुन के जाओ मेरी जान यार गुजरिश करदे

मुंडा छड़ किताबन नु थोड़ियां अंखियां पढ़ादे

तन्हियों दैनिक मुंडा हांजी हांजी करदे

तैणु दैनिक मुंडा हांजी हांजी करदे

तैणु दैनिक मुंडा हांजी हांजी करदे

आंत

ट्रिकी ट्रिकी जो तुस्सी गैलन करदे हो

अस्सी साफ जाने आन सददे ते मर्द हो

ट्रिकी ट्रिकी जो तुस्सी गैलन करदे हो

अस्सी साफ जाने आन सददे ते मर्द हो

रिजर्व जहां प्रकृति थोडे पिछे लड्डे को गुलाम बनाती है

तुस्सी रिक रॉस सुंडे किथे खाने वढदा

तन्ही दैनिक मुंडा हांजी हांजी करदा

तैणु दैनिक मुंडा हांजी हांजी करदा

आंत

[ad_2]

Input your search keywords and press Enter.